ख्याल रखना


अच्छा नहीं किसी से मिल कर दिल में मलाल रखना,
उसके अंदर भी चल रही है कोई जंग ख्याल रखना !

आँखों में धूल झोंकना उनकी फ़ितरत में हो तो हो
अपने हाथों में मगर तुम गुलाल रखना !

क्या पता वो यादों का झौंका कब आ जाये
अपनी जेब में हमेशा एक रुमाल रखना !


न जाने किस घड़ी वो दे दे दरवाजे पे दस्तक
स्वागत को उनके पूजा का थाल रखना !



खुश्बू के लुटेरे बढे आते हैं चमन में
फूलों से कह दो काँटों का ढाल रखना !


-आशुतोष 

Comments

Popular posts from this blog

तनहा

हम चलते रहे

देव होली