खुदा के बन्दे

डर से मुँह छुपाये और हाथों में ताने बन्दूक ,
निर्दोषो को मारकर आतंक मचाने की भूख !

तेरा खुदा औरों के खुदा से है जुदा ,
हूर क्या दोज़ख भी नसीब ना हो ऐसी तेरी सज़ा !

खुदा के बन्दे ये बता कि तूने किस अंदाज में बंदगी को है ढाला ,
शैतान को पत्थर मारने की ऐसी बेताबी कि इंसान को कुचल डाला !

Comments

Popular posts from this blog

तनहा

हम चलते रहे

देव होली